Why do rich people become richer

अमीर लोग अधिक अमीर क्यों बनते है। | Why do rich people become richer?

जैसी हमारी सोच या मानसिकता होती है, उसी गति से पैसा हमारे जीवन में आता है।पैसों के लिए हम जो सोचते हैं, उसी तरह से पैसा हमारे मस्तिष्क में जनम लेता है, और हमारे पास आता है।

अमीर सोच वाले व्यक्ति हमेशा पैसा कमाने के लिए गर्दन के ऊपर के हिस्से का प्रयोग करते हैं और बड़ा पैसा कमाते हैं। जबकि गरीब सोच वाला व्यक्ति अपने शरीर से पैसा कमाता है, और उसे अपने शरीर पर ही लगा कर खत्म कर देता है, कभी अमीर नहीं बन पाता।

अमीर व्यक्ति सदैव यह सोचता है की हर बुराई की जड़, पैसे की कमी है। इसलिए वह अमीर बनने का अथक प्रयास करता है। वे अमीर सोच वाले,रुपिया के लिए हमेशा अच्छा बोलते और सुनते हैं।

Table of Contents

अमीर लोग अधिक अमीर क्यों बनते है। | Why do rich people become richer?

अमीरी सोच वाले खुल कर जीते हैं। वे हमेशा खुश रहने की विद्या सीखते हैं। वे अपनी हार और जीत की जिम्मेदारी खुद उठाते हैं।वे अपने द्वारा किए अपने सभी कार्य में चाहे सफल या असफल कुछ भी हो, खुद को ही जिम्मेदार मानते हैं। वे हर चीज के लिए खुद के गिरेबाँ में झाँक कर देखते हैंं, और उस गलती को सुधारने का प्रयास करते हैं।

वे छोटी छोटी बचत में अपनी ऊर्जा व्यर्थ ना करके,बड़ा डिसीजन लेते वक्त अपना पैसा बचाने के लिए सब्र से धीरे-धीरे काम करते हैं, वहाँ वे बड़ी बचत करते हैं।

अमीर सोच रखने वाले,अपना समय या कला बेच कर पैसा नहीं कमाते ,बल्कि अपने माइंड से कला को आइडिया में बदलकर बड़ा पैसा कमाते हैं।

अमीर लोग सुबह उठ कर किया करते है।

img 20211010 0948201137183779549041267

कामयाब और सफल सोच वाले लोग सुबह सुबह जल्दी उठते हैं, और अपने शरीर को व्यायाम, प्राणायाम ,योग ,आसन द्वारा तैयार करते हैं।अपने मन मस्तिष्क को ऊर्जा से भर , गतिशीलता प्रदान करते हैं।

अमीर सोच वाले लोग जिम जाते हैं , प्रातः कालीन भ्रमण के लिए अपने आसपास के बगीचों में घूमना पसंद करते हैं और प्रकृति के बीच रहकर अपने मस्तिष्क को तैयार करते हैं, ताकि वे स्वस्थ शरीर का आनंद ले सकें। वे जानते हैं पहला सुख निरोगी काया, स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ मस्तिष्क, का विकास होता है,और संपूर्ण भोग भी स्वस्थ शरीर द्वारा ही किया जा सकता है।

वे अपने को अपग्रेड करने पर काम करते हैं।उसके लिए वै सेमिनार अटेंड करते हैं, पुस्तकें पढ़ते हैं। उनके घर में बड़ी लाइब्रेरी होती है वहां वे समय व्यतीत करते हैं, पढ़ते हैं, सीखते हैं, अपने जीवन का एक एक पल कुछ ना कुछ सीखने में लगाते हैं, और उस पर काम करते हैं। वे अपनी सोच पर काम करते हैं, इसके लिए वे अपने मस्तिष्क को भी ज्ञान द्वारा तैयार करते हैं।

वे आइडिया और टेक्निक खोजते हैं।

Human लाइफ में वे कैसे और कौन सी चुनौती को सॉल्व कर मानव जीवन को आसान बना सकें ,इस पर काम कर, योजना बनाते हैं। पैसे के लिए कुछ अच्छा बोलते हैं।

पैसों की कमी को दिखाते और जताते नहीं ,हमेशा यही बोलते हैं कि मेरे पास बहुत पैसा है, पैसा आने वाला है।रुपयों को खेल की तरह कमाने में विश्वास रखते हैं, बड़े रुपए आने के लिए सोचते रहते हैं, इंतजार करते हैं।रूपियों से दोस्ती और प्यार करना पसंद करते हैं। उनका मानना होता है ,अपनी सोच और अपने जीवन को ऐसा बनाएं कि रुपया अपने आप ही हमारे पास आए ,रुपए की चाह करते हैं।

वे पैसों के लिए काम नहीं करते वे अपने आप को अपडेट करने के लिए काम करते हैं।उनका मानना होता है, पैसा तो स्वयं ही अपने आप आएगा।

संबंध

पैसे से अच्छे संबंध बनाते हैं।वे दूसरों के पैसों को देख कर खूब कृतज्ञ और खुश होते हैं।वे सोचते हैं की कितनी मेहनत कर इसे पाए होंगे।

वे स्टॉक मार्केट की सेल का इंतज़ार करते हैं।

अमीरी सोच वाले व्यक्ति सेल की तलाश में रहते हैं, जब शैयर बाजार में डिस्काउंट में माल बिकता रहता है।अमीर इस समय अपना रुपया इस माल में निवेश कर खूब कमाते और प्रसन्न होते हैं।अपनी वैल्यू बढ़ा कर पैसा कमाते हैं।

Investments

अपनी कमाई का दसवां हिस्सा इन्वेस्ट करते हैं वे अपने दिनभर की दिनचर्या में अपने खाली समय में 80% समय लर्निंग में लगाते हैं पैसों का कम आने की वजह सीखने में विश्वास रखते हैं वे अपने काम और अपनी वैल्यू को बढ़ाने के लिए सीखते हैं।

वे हर चीज की कीमत चुकाते हैं। अपने कम्फर्ट जोन से बाहर निकल कर अपने जीवन में पैसों के लिए काम करते हैं।

They work for taking emi

अमीरी सोच वाले व्यक्ति e m i देने की जगह ईएमआई लेने की सोचते हैं।वे व्यर्थ के कर्ज को लेने में विश्वास नहीं करते।

डर से बड़ा खुद को मानते हैं।

वे जोखिम उठान्ने से डरते नहीं। वे अवसर की तलाश में रहते हैं।

अमीर सोच वाले व्यक्ति नौकर नही मालिक बनने की सोच रखते हैं। वे खुद का व्यापार करने की योजना बनाते है। और आसानी से अमीरी तक पहुँच जाते हैं। वे व्यापार करते हैं।

They purchase time for increasing own time values

अमीरी सोच वाले व्यक्ति टाइम को खरीद कर पैसा बनाते हैं ,और अपना समय बचाते हैं । अपनी शौक को खोजते हैं, उस पर काम करते हैं। वे पैसा कमाने ,भविष्य को सुरक्षित करने के लिए, पैसिव इनकम को बढ़ाने के लिए काम करते हैं।

Wife के साथ breakfast से दिन की शुरुआत करे।

अपने परिवार और बच्चों के साथ सुबह का नाश्ता करते हैं, और इस समय एक दूसरे से मिलकर ,साथ बातें कर खूब प्रसन्न होते हैं। वे इस बात को बखूबी जानते हैं ,धन का आनंद भी तभी लिया जा सकता है, जब परिवार और समाज उनके साथ खड़ा हो ।

अमीरी सोच वाले रूपियों के लिए काम नही करते। वे रूपियों से अपने लिए काम करा कर रुपिया से रुपिया कमाते हैं।

They plan to buy the shares of those company which ordinary people go to purchase their products, as they wish.

अमीरी सोच वाले व्यक्ति एप्पल का फोन और मर्सिडीज गाड़ी खरीदने की जगह इन कंपनियों के शेयर खरीदने की योजना बनाते हैं फिर इसमें कमा कर फिर उस पैसे से अपनी इन शौक को पूरा करते हैं।

They follow process

अमीरी सोच वाले व्यक्ति अमीर बनने के प्रोसेस को कभी स्कीप नहीं करते, बल्कि प्रोसेस से चलकर ही अमीर बनने का प्रयास करते हैं ,और निश्चित रूप से एक दिन अमीर होते हैं। वे लॉटरी की टिकट खरीद कर अमीर बनने में विश्वास नहीं करते, वे काम और मेहनत कर अमीर बनने में विश्वास रखते हैं।वे किस्मत के भरोसे नहीं बैठते, वे चमत्कार को करने में विश्वास करते हैं, चमत्कार होने का इंतजार नहीं करते।

सोच वृक्ष की जड़ की तरह invisble mind thinking can only बी visible

कुल मिलाकर हमें अपनी सोच में वृक्ष की जड़ की तरह उस धन को देखना होगा, तभी हम उसे परिणाम स्वरूप पेड़ के रूप में प्राप्त कर पाएंगे,और धनी बन पाएंगे।पहले किसी भी योजना को पूरी करने के लिए अपने माइंड में ही देखना पड़ता है, कागज पर नक्शा बनाना पड़ता है, उसी तरह धन को प्राप्त करने के लिए बीज की तरह सोच पर काम करना पड़ता है तभी मिलती है, धन, समृद्धि और खुशियां।

अमीर सोच वालों का अमीर संग

अमीर सोच रखने वाला व्यक्ति अमीर व्यक्तियों का संग करता है ,उनके साथ समय व्यतीत करता है ,उनके साथ डिनर और लंच करता है, वह इस बात को जानता है की संग का रंग जरूर चढ़ता है।जिस तरह भीड़भाड़ भरे लोकल ट्रेन में चढ़ने के लिए भीड़ के बीच में घुस जाने से वह भीड़ ही हमें ट्रेन के अंदर पहुंचा देती है, उसी तरह अमीर व्यक्ति के संग उठने, बैठने, उनका संग करने से हम अमीर बन जाते हैं।

धनी बन कर जीवन के मजे लेते हैं।

Private jet, luxury car, aur bungalow,

जय श्री कृष्ण

Thank you…..

मेरी सोच यानी खुशियां ही खुशियां||||||

Nirmal Tantia
मैं निर्मल टांटिया जन्म से ही मुझे कुछ न कुछ सीखते रहने का शौक रहा। रोज ही मुझे कुछ नया सीखने का अवसर मिलता रहा। एक दिन मुझे ऐसा विचार आया क्यों ना मैं इस ज्ञान को लोगों को बताऊं ,तब मैंने निश्चय किया इंटरनेट के जरिए, ब्लॉग के माध्यम से मैं लोगों को बताऊं किस तरह वे आधुनिक जीवन शैली में भी जीवन में खुश रह सकते हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »
Exit mobile version