International literacy day

International literacy day, 8th September अंतरराष्ट्रीय साक्षरता दिवस……..

International literacy day, 8th September अंतरराष्ट्रीय साक्षरता दिवस

किसी भी देश को सर्वोच्च शक्तिशाली बनाने में शिक्षा और सुरक्षा का सर्वोच्च और आधुनिक होना अति आवश्यक है इसलिए सुरक्षा के साथ-साथ शिक्षा ( Education ) पर भी विशेष ध्यान दिया जाना जरूरी है

जिस तरह देश की सुरक्षा के लिए एक बड़ा बजट रखा जाता है उसी तरह विकसित समाज के निर्माण के लिए शिक्षा का भी एक बड़ा बजट बनाना बहुत जरूरी है,इसको प्राथमिकता देना जरूरी है

प्रशासन में शिक्षा मंत्रालय के नेतृत्व करने के लिए शिक्षित ( Educated )  व्यक्ति को नियुक्त करना आवश्यक है, सिर्फ वोट और पार्टी की जीत के आधार पर इसका निर्णय नहीं किया जाना चाहिए

शिक्षा ( Education ) मंत्रालय और शिक्षा का उद्देश्य एक अच्छा इंसान बनाने का होना चाहिए और इसके लिए शिक्षक और विद्यार्थी दोनों को शिक्षित ( Educated )करने पर प्रशासन काम करें

45645356

खुद को किस तरह हर समय उत्साहित रखा जाए इसके लिए हैप्पी साइंस को पढ़ाना सरकार की तरफ से शुरू किया जाए तो देश का विकास जल्द से जल्द हो सकता है

शिक्षा ( Education )का अर्थ सिर्फ सूचना प्रदान करना ही ना रहकर जीवन जीने की पद्धति को सिखाना होना चाहिए

शिक्षा ( Education ) के साथ-साथ स्किल डेवलपमेंट पर ज्यादा समय और पैसों का खर्च होना रोजगार पैदा कर सकता है, शिक्षा ( Education )के साथ-साथ स्किल डेवलपमेंट पर भी बराबर ध्यान दिया जाना आवश्यक है

शिक्षा ( Education ) का महत्व तभी है जब हम शिक्षित ( Educated )खुश और धनी हो

 

शिक्षण संस्थानों को शहर के कुछ बाहर प्रकृति के बीच में स्थापित किया जाना चाहिए

शिक्षा ( Education ) का समय प्रातः काल 7:00 से 1:00 तक का होना चाहिए जिससे अभिभावक और विद्यार्थी सबके सोने और उठने का समय भी बदला जा सके

शिक्षा ( Education ) विभाग का उद्देश्य यह भी होना चाहिए कि शिक्षक भी पढ़ाने के साथ-साथ सीखते भी रहे

सर्व शिक्षा सबको शिक्षा ( Education ) अभियान चलाया जाना जरूरी है देश में कोई भी बिना पढ़ा लिखा ना रहे क्योंकि शिक्षा एक मौलिक और मानवाधिकार है

Education news आधे घंटे की जरूर रोज प्रसारित किया जाना चाहिए जिसके तहत शिक्षा,शिक्षक,विद्यार्थी और स्कूल कॉलेजों की चुनौतियों पर खबरें सरकार मंत्रालय, तथा विशिष्ट व्यक्तियों तक पहुंचे

कमजोर छात्र और छात्राओं के लिए अलग से शिक्षा ( Education ) व्यवस्था किया जाना भी अति आवश्यक है

शिक्षा ( Education )के साथ साथ खुश रहने की तकनीक सीखाया जाना भी प्रशासन का दायित्व होना चाहिए इसके लिए खुशियां ही खुशियां वेबसाइट सरकार के समक्ष उपस्थित है।

शिक्षा ( Education )के बाद भी पढ़ने की आदत बनी रहे इसके लिए प्रशासन की ओर से हर जगह पुस्तकालय और छोटी-छोटी लाइब्रेरी की स्थापना किया जाना आवश्यक है

सबका साथ सबका विकास और सब की शिक्षा ( Education ) के लिए जरूरी है साक्षरता अभियान अधिक से अधिक चलाया जाए

लिटरेट कंट्री के अंतर्गत फिनलैंड नॉर्वे आइसलैंड डेनमार्क स्वीडन स्वीटजरलैंड यूएस जर्मनी आदि आते हैं जहां शिक्षा को ही,पढ़ने और पढ़ाने को विशेष महत्व दिया जाता है

बाकी विस्तृत जानकारी के लिए शिक्षा  ( Education )के महत्व को जानने के लिए खुश रहने के लिए हमारी वेबसाइट खुशियां ही खुशियां पर देखें और इस कार्यक्रम को आगे बढ़ाएं

Nirmal Tantia
मैं निर्मल टांटिया जन्म से ही मुझे कुछ न कुछ सीखते रहने का शौक रहा। रोज ही मुझे कुछ नया सीखने का अवसर मिलता रहा। एक दिन मुझे ऐसा विचार आया क्यों ना मैं इस ज्ञान को लोगों को बताऊं ,तब मैंने निश्चय किया इंटरनेट के जरिए, ब्लॉग के माध्यम से मैं लोगों को बताऊं किस तरह वे आधुनिक जीवन शैली में भी जीवन में खुश रह सकते हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Translate »
Exit mobile version