What is the Importance of Gratitude? | कृतज्ञता का महत्व क्या है?

कृतज्ञता का महत्व क्या है? ( What is the Importance of Gratitude? ) जीवन में हम सब मानव सफल होना चाहते हैं। इस सफलता के प्रोसेस में कृतज्ञ रहने का नियम सबसे अहम् है।दूसरों के प्रति धन्यवाद की भावना। हमारी भारतीय सभ्यता में तो हम अग्नि, जल, वायु ,पृथ्वी आकाश इन पंच तत्वों का हम आभार स्वरूप ईश्वर मानकर इनकी पूजा करते हैं और धन्यवाद का भाव रखते हैं, सम्मान करते हैं ,क्योंकि इन्हीं तत्वों पर ब्रह्मांड टिका है, और हम स्वयं भी इन्हीं के सहयोग से जिवित रह पाते हैं।

कृतज्ञता हमें उस व्यक्ति या वस्तु के प्रति नतमस्तक करती है ,जो हमारे जीवन को आसान बना कर हमें हमारे लक्ष्य सफलता तक पहुंचाता है,जो परिणाम में हमें खुशियां देती हैं। यह कृतज्ञता हमारे अहंकार को खत्म करती है। अभी तो आभार प्रकट करना एक तरीके से सम्मान प्रकट करना भी है

Table of Contents

मनुष्य के सभी गुणों में कृतज्ञता सबसे महान गुण ही नहीं ,बल्कि सैकड़ों गुणों की जननी भी है। कृतज्ञता का भाव रखने वाला मनुष्य वृक्ष की जड़ की तरह अपने उज्जवल भविष्य के लिए कृतज्ञता रूपी जल डालता है और,यह वृक्ष तरह तरह के नए-नए फूल – पत्तों से भर जाता है, उस तरह इस धन्यवाद से जीवन में खुशियों की नई-नई सुगंध, नए-नए पुष्प और पत्ते स्वयं ही लगते हैं।कृतज्ञता व्यक्ति के जिंदगी में खुशियां और अवसर लेकर आती है।

जरूरत के समय या विषम परिस्थिति , चुनौती के समय किसी के द्वारा की गई छोटी सी सहायता, या सेवा द्वारा हृदय में जब हम उस व्यक्ति के प्रति आदर भाव रखते हैं,तब यह उसके लिए शुक्रिया अदा करना ही कृतज्ञता कहलाता है। यूं तो शुक्रिया का शाब्दिक अर्थ आभार है।

कैसे याद रखें इस भावना को

आभार के द्वारा हम बड़ी आसानी से अपने सन्मुख व्यक्ति को कृतज्ञता के भाव जाहिर कर अपना ,बना सकते हैं। बार-बार इस आभार की आदत को अपने जीवन में कायम रखने के लिए हम अपने पास अपने साथ कोई ऐसी भी वस्तु रख सकते हैं जो हमें बार-बार इस भावना की याद दिलाए, ताकि तत्काल हम अपने आसपास के किसी भी सामान या संपत्ति का धन्यवाद कर सकें, जो हमारा जीवन आसान बना रही हो।आप किसी पत्थर या रुमाल को इस कृतज्ञता को याद रखने के अस्त्र के रूप में रख सकते हैं।

धन्यवाद के लिए सोच पर कम करो

हम हमारे जीवन में जिस चीज के बारे में सोचते हैं ,वही हमें प्राप्त होती है, और कमाल की बात तो यह है जो बात या स्थिति हमें नहीं चाहिए हम उसके बारे में, हम दिन भर सोचते हैं ,और उसको ही ध्यान करते हैं। हमारा अवचेतन मन जो हम जो सोचते हैं, उसी को सत्य करने में लगा रहता है फिर यह तो आसान सी समझने की बात है ,दिन भर हम उन बातों को हि सोचें ,और बोलें,उन चीजो के लिए आभार प्रकट करें जो ब्रह्मांड ने हमें इस जीवन में दिया है। सचमुच कमाल हो जायेगा।

धन्यवाद तेरा प्रभु

कृतज्ञता की भावना हमे हर वो चीज दे सकती है जिसकी हम चाह रखते हों। जिस चीज को प्राप्त करने के विचार हमें आते हो, हम उन विचारों के लिए ईश्वर या परम शक्ति का धन्यवाद करना शुरू कर दें।

धन्यवाद के साथ

कृतज्ञता का भाव खुशी देने वाला है,और जो जितना आभारी होता है उसके कल्याण का स्तर भी उतना ही अधिक होता है। आभारी लोग ही खुश नजर आते हैं। आभारी व्यक्ति बड़े ही आकर्षक दिखते हैं ,और उनमें विनम्रता और करुणा का भाव दिखाई देता है।

हर सुबह धन्यवाद के साथ शुरुआत कैसे करें

कृतज्ञता हम उन शक्तियों का करें,जिनकी वजह से यह संसार चलता है। उन वस्तुओं का धन्यवाद करना शुरू कर दें, जो हम सुबह उठते ही अपनी आंख खुलने के बाद,जो हमें अपने जीवित रहने के लिये जरूरी हो।

बाद में फर्श, जिस पर पांव रखकर चलने के लिए,फिर अपने इस्तेमाल किए जाने वाले टॉयलेट ,ब्रश, पेस्ट ,साबुन,जल आदि का। इस तरह छोटी बड़ी जो जो वस्तुएं हम दिन भर हम उपयोग करते हों उनका धन्यवाद करें।जिन परिस्थितियों का हम सामना करें, उन सबके लिए भी हम धन्यवाद करते रहे। हमारा जीवन इस क्रिया से धीरे-धीरे खुशियों से भर जाता है।

2 मिनट की चमत्कारी प्रार्थना धन का बहुत बहुत शुक्रिया

हमारे जीवन में जो धन है उसके लिए हम इस ब्रह्मांड का शुक्रिया अदा करना शुरू करें शुक्रिया की भावना से ब्रह्मांड हमें प्रचुरता से और देने लगेगा। बड़ा वही बनेगा |

अत्यंत शक्तिशाली एवं चमत्कारी है आधार कार्ड आभार प्रार्थना

बड़ा वही बन सकता है, जो हर समय आभार की भावना को रखता है। जो नही है उसकी शिकायत नही, बल्कि जो है उसके प्रति कृतज्ञता की भावना रखनी होगी, और हम देखेंगे, उसकी लिस्ट बढ़ती चली जायगी। देखने में यह भी आता है की हमारे जीवन में प्राप्त चीजों में १०० में से ९५ चीज ब्रह्मांड ने हमे ऐसी दी है जिसके लिए हम आभारी हैं।Thank you,

इसे भी पढ़े:-

The meaning of skill | स्किल का मतलब

स्किल का मतलब (Meaning of Skill ) है, किसी कौशल को कोई व्यक्ति बेहतर तरीके से करने में सक्षम बनता है। किसी काम में विशेष ज्ञान और क्षमता का होना

Read More »

What Should You Do If Someone Insults You? | कोई अपमानित करें तो क्या करें?

अपमान ( Insults ) का मतलब है किसी के मन को गलत बात या व्यवहार कैसा किसी गलत कार्य अथवा बोली के द्वारा ठेस पहुंचाना या सामने वाले व्यक्ति का

Read More »

What to do for Developed India Sankalp Yatra | विकसित भारत संकल्प यात्रा के लिए क्या करें

 विकसित भारत संकल्प यात्रा के लिए क्या करें ( What to do for Developed India Sankalp Yatra )भारत को विकासशील से विकसित देश की ओर ले जाने के लिए जरूरी

Read More »

Learn to Make Happy Hormones and Be Happy | हैप्पी हार्मोन बनाना सीखो और खुश रहो

हैप्पी हारमोंस की परिभाषा क्या है  हैप्पी हार्मोन बनाना सीखो और खुश रहो  ( Learn to Make Happy Hormones and Be Happy) यह एक तरह की विज्ञान है जिसके प्रयोग

Read More »

सिर्फ एक शब्द सब कुछ आसान कर देगा कैसे !

कृतज्ञता मनुष्य की अच्छी नींद के लिए भी एक टॉनिक की तरह बताया गया है । इस पर कई शोध भी हुए हैं ,कि जो व्यक्ति अपनी हर सहायता के लिए आभार व्यक्त करते हैं ,उन्हें बहुत ही प्रभावशाली व्यक्तित्व जाना जाता है, और इसका मुख्य कारण है की वे व्यक्ति सकारात्मक विचारों से सदैव ही जुड़े रहते हैं ।

जीवन में शुक्रगुजार होना बहुत जरूरी है ,यह भावना व्यक्ति के अंदर, सम्मान की भावना को,जागृत करती है।आभार व्यक्त करने वाले व्यक्ति अपने जीवन में केवल सफल ही नहीं होते ,वह बहुत ही सुखी और प्रसन्न भी रहते हैं। जीवन में सफलता के लिए, कृतज्ञता व्यक्त करना उन्हें बड़ा बनाता है, उनके आत्मविश्वास को बढ़ाता है।

दिल की गहराइयों से आपका बहुत-बहुत धन्यवाद

आभार की आदत जीवन में रहने से मनुष्य और अधिक सहयोग करने की भावना रखने लगता है ,और अधिक मदद करने के लिए अग्रसर होता है, जो उसकी उन्नति को निरंतर करवाता है। उसके जीवन में खुशियों के रंग भी भरता है।
किन शक्तियों के धन्यवाद से करें दिन की शुरुआत ?

सृष्टि,जो शक्तियां इस ब्रह्मांड को चलाती है, उन शक्तियों के प्रति कृतज्ञता और आभार हमें प्रचुरता की ओर ले जाता है और यही वास्तव में उन शक्तियों की पूजा है। सही मायने में उन शक्तियों का धन्यवाद ही उनकी प्रार्थना है।

हम जिस क्षण इस सृष्टि के ,इस प्रकृति के बनाए हुए लोगों का, सामान और संपत्ति का धन्यवाद करना शुरू करते हैं, उसी पल से यह प्रकृति, सृष्टि ,यह ब्रह्मांड हमें चार गुना देने लग जाती है । सृष्टि का आभार मानने वालों के ह्रदय में ,खुशियों की भावना, और आत्मविश्वास का भरपूर संचार होने लगता है।

हम इस सृष्टि का मुश्किलों के लिए भी शुक्रिया करें ,चुनौतियों के लिए भी शुक्रिया अदा करें, और यह पूर्ण विश्वास रखें कि यह चुनौती भी हमारे किसी न किसी कल्याण को करने के लिए ही जीवन में आई है,तो यह चुनौती भी अवसर में बदल जाती है और हमारे कई दुखों को वह समाप्त कर जाती है। समस्याओं में हमसे सही व्यवहार नहीं करने वाले लोगों का भी हम धन्यवाद करें कि उसने हमारे अंदर सहनशक्ति को बढ़ाने में हमारी मदद की।

हमारी कमियों को दूर करने के लिए ही प्रकृति इन परिस्थिति का निर्माण करती है। जो कार्य हम स्वयं नहीं कर पाते, उन कार्यों को पूरा कराने के लिए प्रकृति इन परिस्थितियों का निर्माण करती है, और उसे अंजाम और परिणाम देती है।
धन्यवाद

कृतज्ञता को प्रकट करें

कृतज्ञ महसूस करना और उसे व्यक्त न करना ठीक ऐसे ही है  जैसे एक उपहार को ढक रखना और इसे किसी को ना देना, सो इसे हम जितना प्रकट करते हैं बताते हैं उतना हमें और मिलने लगता है

कृतज्ञ अगर हैं तो बता कर उन्हें जाहिर करें। यह आपके और सामने वाले व्यक्ति के रिश्तों में चमक लाती है जो हमारी आभामंडल को बढ़ाता है। प्रसन्नता ,समृद्धि, सफलता ,सब कुछ जो हमें चाहिए हमारे सम्मुख प्रकट कर देता है यह एक उपहार की तरह हमको आनंदित करती है।

उन लोगों का सदैव आभारी होना चाहिए जो हमारे लिए कुछ करते हैं। वे लोग हमारे जीवन के आकर्षक माली की तरह हैंजो हमारी आत्मा को फूलों की तरह खिलाते हैं,उनमें सुगंध भरते हैं।

हमारे लिए शिकायत करना बहुत आसान है लेकिन थैंक यू करना आभार प्रकट करना उससे भी आसान है,

हम इस आधार की भावना को एफर्मेशन के जरिए पूरे प्राकृतिक वातावरण में फैलाएं इसके लिए हमें जो चाहिए उसे हम बार-बार प्रकृति में घोषणा करें ।

हम जैसा बनना चाहते हैं इसकी भी घोषणा हम अपने मुंह से बोलकर बार-बार दोहराकर करें ।जिसके हम आभार प्रकट करते हैं जिस प्रानी ने हमारे लक्ष्य तक पहुंचने में हमारी मदद की हो,हमारे इस जीवन की यात्रा को आसान बनाया हो कभी-भी मार्गदर्शन किया हो उसका भी हम आभार प्रकट करें उसे बताएं,उसे जताएं इससे पूरी प्रकृति हमारे प्रति अपने भंडार खोलती है।इस आभार की भावना को हम अपने फोन के स्टेटस पर भी लगा कर रखें, किसी फोन नंबर या अपने ही दूसरे नंबर पर छोटी-छोटी बातों के लिए हम आभार के मैसेज भेजें।

इससे हम वातावरण में आभार की भावना को भेजते हैं इस वातावरण में हम जैसी भावना भेजते हैं वैसे ही फ्रीक्वेंसी के लोग विचार और आभार स्वरूप तोहफा हमारे जीवन में प्रकट होने लगता है। कोई हमें थैंक यू भेजें धन्यवाद भेजे तो उसे हम आपका स्वागत है,बोलकर उसका जवाब भी दे

हम जिन चीजों का धन्यवाद करने की आदत बना लेते हैं, तो हम खुद को उन चीजों के पास सरलता से पाते हैं हम ब्रह्मांड का धन्यवाद जरूर करें इस यूनिवर्स का धन्यवाद जरूर करें जिन्होंने हमें मानव तन दिया और इस जीवन में सुखी रहने के लिए ज्ञान और विवेक शक्ति दी,

हमें जानने की शक्ति दी हमें मानने की शक्ति दी,जिसके प्रभाव से हम हमेशा खुश रह सकते हैं, आप अपने जीवन में किसी भी तरह की पूजा पाठ साधना ध्यान या कोई भी क्रिया करते हैं तो वह भेज बदलाव हुआ आभार या थैंक यू ही है जो आप उसे समय निकालकर अपने ईस्ट के प्रति करते हैं

हम रोज सुबह उठते ही सबसे पहले संकल्प परमात्मा का धन्यवाद कर ही अपने दिन की शुरुआत करें, और दिन भर जो भी उपलब्धि शक्ति खुशियां हमें मिले उसके लिए हम रात को सोने से पहले मन ही मन उसे परम सत्ता को यूनिवर्स को धन्यवाद करें,

मैंने जब से इस धन्यवाद के जादू को सीखा तब से मैं निरंतर धन्यवाद करता हूं और इस जादू को आप सबको  भी अपने जीवन में जानने समझने और प्रयोग करने के लिए उत्साहित करता रहूंगा
Thank you God,

Thank you for my happy life, support, understand me, body, mood, money, friends, family, work, for day, opportunity,
थैंक यू यूनिवर्स फॉर Every thing इन माय लाइफ थैंक यू थैंक यू थैंक यू

जय श्री कृष्ण…..!
( धन्यवाद मुझे भी देना) || 

Nirmal Tantia
मैं निर्मल टांटिया जन्म से ही मुझे कुछ न कुछ सीखते रहने का शौक रहा। रोज ही मुझे कुछ नया सीखने का अवसर मिलता रहा। एक दिन मुझे ऐसा विचार आया क्यों ना मैं इस ज्ञान को लोगों को बताऊं ,तब मैंने निश्चय किया इंटरनेट के जरिए, ब्लॉग के माध्यम से मैं लोगों को बताऊं किस तरह वे आधुनिक जीवन शैली में भी जीवन में खुश रह सकते हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Exit mobile version