What is the Glory of Ram’s Name? | राम के नाम की महिमा क्या है?

राम के नाम की महिमा क्या है

Glory of Ram’s name संपूर्ण शास्त्रों को हम राम नाम के प्रभाव से जान सकते हैं। राम का नाम इस लोक और परलोक दोनो में हमारा कल्याण करता है।

Table of Contents

राम नाम एक संपति

राम नाम के प्रभाव से हमारी संपत्ति बढ़ती है,राम नाम की संपत्ति जब जीवन में बढ़ती है तो,इसे कोई चुरा नहीं सकता,एक बार भी राम नाम यदि किसी के मुंह से निकलता है तो उसे तीन बार भगवान शंकर स्वयं प्रणाम करते हैं

कैसे जपे

भाव ,कुभाव से,क्रोध याआलसय से हो किसी भी भावना से हम राम का नाम लेते हैं तो दसों दिशाओं में अपने आप मंगल होने लगता है,क्योंकि जहर हम किसी भी भाव से पीयेगे तो निश्चित रूप से मरेंगे ही,इस तरह ही राम नाम का स्वभाव है हम किसी भी भाव से भगवान के नाम को लेते हैं हम तर जाते हैं।

राम नाम का प्रभाव

यह राम का नाम असंभव को संभव कर देता है,हमारा भाग्य बदल जाता है,नया भाग्य बनने लगता है। यह हमारे शौक को भी शोक कर देता है,या स्टॉप कर देता है

राम नाम जपने वालों में प्रभाव

जो राम नाम जपते हैं उन्हें सपने में भी शोक नहीं होता।सोच को भी सोच हो जाती है।संकट के ऊपर संकट आ जाता है।डूबती हुई नौका भी अपने आप किनारे लगती है।प्रतिकूलता अनुकूलता में बदलने लगती है।

राम नाम की शक्ति

सूर्य चंद्रमा अग्नि वायु में जो शक्ति है वह भी भगवान के नाम की है।इस नाम को शिव जपते हैं हनुमान जपते हैं वाल्मीकि जपते हैं।1000 प्रभु के विष्णु सहस्त्रनाम में बताए गए हैं वह की भगवान राम के एक नाम के बराबर है।

वेदों में मान्यता

भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए माता पार्वती ने बेलपत्र पर भगवान राम का नाम लिखकर शिव को अर्पित किया और माता पार्वती का नाम में प्रेम होने की वजह से भगवान ने उन्हें आभूषण रूप में अर्धनारीश्वर के रूप में धारण किया।तीन बार राम नाम का उच्चारण एक बार कृष्ण नाम के तुल्य है।

इसे भी पढ़े:-

The meaning of skill | स्किल का मतलब

स्किल का मतलब (Meaning of Skill ) है, किसी कौशल को कोई व्यक्ति बेहतर तरीके से करने में सक्षम बनता है। किसी काम में विशेष ज्ञान और क्षमता का होना

Read More »

What Should You Do If Someone Insults You? | कोई अपमानित करें तो क्या करें?

अपमान ( Insults ) का मतलब है किसी के मन को गलत बात या व्यवहार कैसा किसी गलत कार्य अथवा बोली के द्वारा ठेस पहुंचाना या सामने वाले व्यक्ति का

Read More »

What to do for Developed India Sankalp Yatra | विकसित भारत संकल्प यात्रा के लिए क्या करें

 विकसित भारत संकल्प यात्रा के लिए क्या करें ( What to do for Developed India Sankalp Yatra )भारत को विकासशील से विकसित देश की ओर ले जाने के लिए जरूरी

Read More »

Learn to Make Happy Hormones and Be Happy | हैप्पी हार्मोन बनाना सीखो और खुश रहो

हैप्पी हारमोंस की परिभाषा क्या है  हैप्पी हार्मोन बनाना सीखो और खुश रहो  ( Learn to Make Happy Hormones and Be Happy) यह एक तरह की विज्ञान है जिसके प्रयोग

Read More »

रामचरितमानस में बताया

हम सोने से पूर्व भगवान का नाम जरूर जपे और सो कर उठने के बाद भी तुरंत भगवान का नाम जपे तो यह सोने और जागने से पहले की सांस उनके नाम जप कि सांस मानी जाएगी।

राम नाम मंत्र नही महामंत्र

इस नाम को सुकदेव,सनक, नारद आदि मुनि जपते हैं।यह मंत्र नहीं महामंत्र है,जिसे श्री भगवान शिव स्वयं जपते हैं और काशी में इस राम नाम के प्रभाव से मुक्ति देते हैं।

राम नाम जप के फायदे

इस नाम जप की प्रभाव से बूरे विचार बंद हो जाते हैं,बुरी बातें हम भूलने लगते हैं मन की गंदगी निकलने लगती है चिंता खत्म होती है। इस राम नाम को लिखने से हमारा मन एकाग्र होता है।वाल्मीकि जी ने उल्टा नाम जपा और उसके प्रभाव से उन्होंने रामायण लिख डाली।

राम नाम से चमत्कार

अगर हम भीतर और बाहर दोनों ओर उजाला चाहते हैं तो अपने मुख के द्वार पर भगवान राम के नाम की मणि रूपी दीपक को रखें।

राम से बड़ा है नाम

राम से बड़ा है भगवान राम का नाम क्योंकि राम ने तो कुछ ही लोगों को मुक्त किया किंतु इनका नाम आज भी लोगों को मुक्त करता है।कलयुग में तो राम का नाम कल्पतरु है कल्याण करने वाला है। जब समस्त पुण्य का प्रभाव बढ़ता है तब यह राम का नाम हमारे जीभ पर आता है और इससे प्रेम होता है राम का नाम नरसिंह स्वरूप है।ध्रुव जी ने ग्लानी से  माता के वचनों से दुखी होकर सकाम भाव से हरि का नाम जपा और थ्रूव लोक को प्राप्त किया।

कल्युग में राम नाम का विशेष प्रभाव

सतयुग में ध्यान से त्रेता में यज्ञ से द्वापर में पूजन से जो फल मिलता है, कलयुग में वही सिद्धि भगवान राम के नाम के जप से मिल जाती है। जीवन में हंसी-खुशी और सकारात्मक से जीने के लिए इस राम नाम के मंत्र को अपनी आदत स्वरूप बनाएं और अपने जीवन में प्राथमिकता दें
जय श्री राम
धन्यवाद

Nirmal Tantia
मैं निर्मल टांटिया जन्म से ही मुझे कुछ न कुछ सीखते रहने का शौक रहा। रोज ही मुझे कुछ नया सीखने का अवसर मिलता रहा। एक दिन मुझे ऐसा विचार आया क्यों ना मैं इस ज्ञान को लोगों को बताऊं ,तब मैंने निश्चय किया इंटरनेट के जरिए, ब्लॉग के माध्यम से मैं लोगों को बताऊं किस तरह वे आधुनिक जीवन शैली में भी जीवन में खुश रह सकते हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Exit mobile version