High vibrations for happiness

खुशी के लिए उच्च कंपन | High vibrations for happiness

Vibration – हम हमारी उन तरंगों को कहते हैं जिसके द्वारा हम अपने सामने वाले व्यक्ति के ऊपर अपना प्रभाव छोड़ते हैं। यह वाइब्रेशन हमारा परिचय होती हैं, कि हम कैसे इंसान हैं। Vibration द्वारा हम यह जान पाते हैं कि हम कितने पवित्र, शांत और universal एनर्जी से जुड़े हैं। वाइब्रेशन, यह बताती है, हम कितने सकारात्मक हैं, इसका अहसास सामने वाले व्यक्ति को कराती है।

हाई वाइब्रेशन का कमाल तो तब देखने में आता है, जब हाई वाइब्रेशन इंसान के जुड़ने से हमारी चुनौतियों का हल हमें फटाफट मिलने लगता है। वाइब्रेट से एक मतलब हमारे जागने से भी है। कोई परिस्थिति हमें जगाती है, हिलाती है, कोई इंसान हमें जागृत करता है, तो वह भी वाइब्रेशन है। इसके अलावा भी हमारी खुशियों के लिए हमें कई तरह के वाइब्रेशन से जुड़ कर रहना चाहिए। इनकी चर्चा मैं कर रहा हूं।

Table of Contents

कैसे आती है, यह vibrations | इन vibration को बनाने के लिए क्या करें? | High vibrations for happiness

आदत का सबसे बड़ा प्रभाव हमारे जीवन की खुशियों पर पड़ता है। अच्छी आदतें खुशियां ही खुशियां देती है, और बुरी आदतें, गलत आदतें, दुख और परेशानियों का अंबार लगा देती है। इसलिए सबसे पहले हमें अपनी आदतों पर काम करना चाहिए क्योंकि आदतें हमें जीवन में पुरस्कार दिलाती है, विजेता बनाती है।

देने की आदत।

इन हाई वाइब्रेशन को बनाने के लिए सबसे पहले हम अपने आप को खाली करने की तकनीक अपनाएं, क्योंकि यह ब्रह्मांड हर खाली स्थान को तुरंत भरता है, इसलिए हम अपनी देने की आदत बनाएं।

वर्तमान के दिन की सही शुरुआत।

सुबह की शुरुआत बड़े शांतिपूर्ण तरीके से होनी चाहिए जिससे दिन भर के लिए हमें नई ताजगी और energy मिले। सुबह का पहला घंटा बड़ा ही कीमती होता है, इस घंटे में हम अपनी सोच को बदलने के लिए गति दे सकते हैं, यह हमें दिनभर की शुरुआत के लिए नई ऊर्जा और जोश देता है। इस समय हम अपनी पिछली परेशानियों को सोचने की बजायआगे की महत्वपूर्ण और रचनात्मक योजनाओं को सोचें, और उसे अंजाम देने की योजना बनाएं। अधिक से अधिक सकारात्मक दिशा में हमारा सुबह का पहला घंटा (Golden Hour) बीते। इस घंटे में हम स्वयं को अच्छे से तैयार करें।

सुबह की शुरुआत बड़े ही रोचक पूर्ण तरीके से शांतिपूर्ण ढंग से होनी चाहिए इसके लिए सुबह उठकर व्यायाम करें, प्राणायाम, स्नानादि करें, प्रार्थना करें। स्वास्थ्यवर्धक और पौष्टिक तत्व युक्त, नाश्ता ले, अधिक से अधिक फल और सलाद का सेवन करें।

अपने शरीर को कंपन करें

आजकल विभिन्न तरह की वाइब्रेशन massage भी उपलब्ध है। जिसमें शरीर की प्रत्येक छोटी और मोटी नसों में रक्त का प्रवाह आसानी से हो जाता है, जिससे हम एक अद्भुत शक्ति, अपने आप में महसूस करते हैं। इस मसाज के द्वारा हम अपने शरीर को जागृत कर सकते हैं।

टीवी या मोबाइल से सुबह 9 बजे से पहले की दूरी तय करें..

आजकल की हमारी दिनचर्या में सातों दिन 24 घंटे हम सूचना इंफॉर्मेशन और टेक्नोलॉजी से जुड़े हैं, जिसके माध्यम से हमें नई नई खबरें नए-नए विचार मिलते रहते हैं, और जिन्हें हम कंज्यूम करते रहते हैं। देखने में यह आता है कि हमारा मस्तिष्क इन विचारों से ही सुबह भर जाता है, और हम नया कुछ सोच ही नहीं पाते।

इसी तरह घर के बच्चों में आजकल पढ़ाई को भी प्रेशर का रूप मान लिया जाता है, इसकी भी वजह यही है, सुबह से वह टेक्नोलॉजी के माध्यम से अन्य इंफॉर्मेशन को लेने लगते हैं और उनके माइंड की ऊर्जा उसी में सृजन् होकर खत्म हो जाती है। इसके बाद जब उन्हें पढ़ाई करने के लिए कहा जाता है, तो वह उनके लिए एक तरह का बोझ हो जाता है।

अपने मूड को दें Music थेरेपी:-

इन हाई वाइब्रेशन को बढ़ाने के लिए हम संगीत का सहारा ले। घर में सकारात्मक संगीत को बजाएं। ऐसे विचारों को बजाएं, जिनसे हमें कुछ प्रेरणा मिलती हो, जो हमें कुछ ऊर्जा देते हो। ऐसे संगीत को बजाएं,जो हमारे मस्तिष्क के माध्यम से हमें स्फुर्ति और खुशियां दे। इससे घर का माहौल अच्छा बनता है, और घर के सभी सदस्य अपने आप को ऊर्जावान महसूस करते हैं। सुबह-सुबह व्यर्थ की न्यूज़ और टेक्नोलॉजी के माध्यम से व्यर्थ विचार और Entertainment से अपने मस्तिष्क को न भरें।

जिम्मेदारी लें:

ब्रह्मांड को कंपन दें:

इस वाइब्रेशन को प्राप्त करने के लिए हम सबसे पहले यह समझे कि किसी भी चीज को आकर्षित करने के लिए हम स्वयं ही उसके जिम्मेदार होते हैं जिस तरह अब मां अपने बच्चे को पैरों पर चलना सिखाने के लिए बार-बार गिरने के बावजूद भी सिखाती है। उसी तरह हाई frequency से जुड़ने की जिम्मेदारी हमारी है, और कहीं अगर हम Low वाइब्रेशन से घिरे हैं, तो इसके जिम्मेवार भी हम स्वयं ही हैं। इसके लिए हम किसी दूसरे को या भाग्य को दोष देना अपने आप को बेवकूफ बनानाहै। We have to connect with situation or person only ….. बाकी universe कर देगा।

सुबह जब मन शांत हो तब कंपन करें

ऐसी परिस्थिति में हाई फ्रिकवेंसी को प्राप्त करने के लिए हम सुबह सुबह एफर्मेशन देना शुरू करें। अपने मुंह से बार बार बोले कि मैं अपनी फ्रीक्वेंसी के लिए जिम्मेदार हूं। मैं अपनी इस परिस्थिति के लिए जिम्मेदार हूं। इससे आपका मन फौरन समाधान पर काम करने लगता है। जो चाहिए वो बातें बोलें।

योजना :- अपने भविष्य को वाइब्रेट करें

इस समय हम ऐसा भी सोचे कि इस परिस्थिति से उबरने के लिए हम क्या कर सकते हैं और ऊपर वाले ने इसका निर्माण मेरे सुधार के लिए ही किया है। हम इन परिस्थितियों से सीखे कि हमारी भूल क्या है और हम अद्भुत शक्तियों को बोलें की हम अब high-frequency को प्राप्त के लिए तैयार हैं। उनसे मांगें।

माफी

हम इस क्षमा करने की आदत पर विशेष ध्यान दें। जीवन में कुछ भी ऐसी परिस्थिति का यदि निर्माण हुआ है तो हम उस व्यक्ति को पुन: क्षमा करें। इससे हम कई तरह की चुनौतियों से बच जाते हैं, और हाई वाइब्रेशन को पुनः निर्माण कर पाते हैं। हमारे मन में प्रसन्नता बनी रहती है, यह याद रखें कि कोई बहादुर इंसान ही क्षमा कर सकता है, और यह बहादुरी की पहचान ही होती है कि उसमें यह गुण विद्यमान होता है।

सार्वभौम ताकतों के लिए कुछ करें

अपनी हाई वाइब्रेशन के लिए हम अपने जीवन का लक्ष्य कुछ ऐसा चुने जिससे इस ब्रह्मांड का कुछ भला हो सके। इस मानव जाति या इस यूनिवर्सल फोर्सेस के लिए हम कुछ कर सकें,हम मानव की कुछ जरूरत को पुरा कर सकते हों, तो यह हमें high-frequency mode में ले जाता है, और हम सुपर पावर से भी जुड़ने लगते हैं, क्योंकि हमारे इस लक्ष्य के साथ यूनिवर्सल फोर्सेज की भी सारी फ्रीक्वेंसी, सारी ताकत, हमारे इरादों को सफल करने में जुड़ जाती है, और हमारे अंदर से भावना आने लगती है। Every thing possible:

जय श्री कृष्ण>

Thank you:–

Be happy …………..

Nirmal Tantia
Nirmal Tantia
मैं निर्मल टांटिया जन्म से ही मुझे कुछ न कुछ सीखते रहने का शौक रहा। रोज ही मुझे कुछ नया सीखने का अवसर मिलता रहा। एक दिन मुझे ऐसा विचार आया क्यों ना मैं इस ज्ञान को लोगों को बताऊं ,तब मैंने निश्चय किया इंटरनेट के जरिए, ब्लॉग के माध्यम से मैं लोगों को बताऊं किस तरह वे आधुनिक जीवन शैली में भी जीवन में खुश रह सकते हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Translate »
व्यापार का महत्व जानें । आजादी के अमृत महोत्सव पर Mission happiness | Mukesh ambani indian business magnet | नींद आने का उपाय। Neend aane ke upaye | व्यस्त रहें, मस्त रहें | vyast rahe, mast rahe | अमीर कैसे बनें जानें हमारे प्रेरना स्रोत धीरू भाई अंबानी और उनके सुपुत्र मुकेशजी अंबानी के जीवन से | Insaan ko khushi kab milti hai | इंसानो को ख़ुशी कब मिलती है | Teenage के लिए Positive पारिवारिक रणनीतियाँ !! To Win | जीतने के लिए !! डर को भगाने के १o तरीके। फ्रेंडशिप डे क्यों मनाया जाता है !! आर्थिक समृद्धि के उपाय | कर्ज मुक्ति के उपाय डर क्या होता है। परीक्षा में फेल हो जाना जिंदगी में फेल हो जाना नहीं Youth Competition, और सुखी जीवन के लिए प्रशिक्षण। धन के जीवन में निरंतर प्रवाह के रहस्य युवा जानें secret ऑफ money Insaan ko khushi kab milti hai Youth पैसों को पकड़कर रखने के 10 तरीके सिखे पैसों को संभालना सीखें तभी और मिलेगा विद्यार्थी जीवन भविष्य की तैयारी का पड़ाव है
%d bloggers like this: