Imaandaaree Hamari Khushiyaan Ban Jaati Hai

ईमानदारी हमारी खुशियां बन जाती है | Honesty | Imaandaaree Hamari Khushiyaan Ban Jaati Hai

सत्य और इमानदारी में कोई खास फर्क नजर नहीं आता। जो व्यक्ति सत्यवादी होता है, ईमानदार भी होता है। ईमानदारी एक लाजवाब गुण है क्योंकि जिसमें यह गुण होता है, लोग उस पर आंख मूंदकर भरोसा करते हैं, उसकी साख बनती है, और अपने इसी गुण के कारण वह सब का चहेता और सब के लिए आदर का पात्र बन जाता है।

Table of Contents

ईमानदार व्यक्ति के इर्द-गिर्द उसके मित्र, सहयोगी और संबंधियों का दायरा भी बढ़ जाता है। उसके जीवन में सुख, शांति, समृद्धि सफलता, सम्मान, लोकप्रियता, हर सकारात्मक चीज उससे जुड़ने लगती है।

Loyality | ईमानदारी का मतलब निष्ठा।

उसकी अपने प्रति, अपने परिवार के प्रति, व्यवसाय के प्रति, अपने कार्य के प्रति, अपने समाज और देश के प्रति, हर चीज में उसे सफलता प्राप्त हो जाती है। इमानदारी का एक मतलब निष्ठा भी है, इसका मतलब होता है कि मनुष्य अपने सभी कर्तव्य, अपनी जिम्मेवारी को सच्चे आदर्श और उसूलों से निष्ठा से निभाता है, और सबको प्रसन्न रखता है।

पहचान | Imaandaaree Hamari Khushiyaan Ban Jaati Hai

ईमानदार व्यक्ति सबकी आंखों में आंखें डाल कर बातें करता है। उसका आत्मविश्वास, उसका साहस, उसकी बोली में नजर आती है। उसकी शरीर से सच्चाई झलकती है, वह किसी से नहीं डरता, आंखों में आंखें डाल कर अपने कर्तव्य को निभाता है, अपनी बात को रखता है।

इमानदारी — समृधि के लिए जरूरी है।?

स्थाई सफलता पाने के लिए मनुष्य को अपने जीवन में ईमानदार होना, अपने कर्म, अपनी आदत, अति आवश्यक है। इस गुण के प्रभाव से परिवार में खुशहाली छाई रहती है, और देश भी समृद्ध होता है।इमानदार मनुष्य ही जीवन में सुख, शांति, समृद्धि, प्राप्त कर पाता है। सच्चाई और ईमानदारी इंसान को प्राप्त वह शक्तियां हैं, जिससे वह अपने सिद्धांत के बल पर चलकर मानसिक शक्ति, और शांति को प्राप्त करता है। इंसान को धनवान बनने में भले ही देर लगे परंतु वह इमानदारी से ही धन उपार्जन करके ही धन से सुख ,शांति और समृधि की प्राप्ति कर सकता है।

ईमानदार व्यक्ति के गुण। सरलता:


ईमानदार व्यक्ति सदा ही निर्भीक और चिंता से मुक्त रहता है। ईमानदार व्यक्ति किसी भी परिस्थिति में आंखों में आंखें डाल कर ही बात करता है। उसकी बातें आत्मविश्वास से भरी होती हैं, वह अपने आत्म सम्मान की रक्षा निर्भय हो कर करता है, और वह इस गुण के होने पर भी अपने ईमानदार होने की डिंग नहीं हांकता। उसकी बातों में एक तरह की इमानदारी और सच्चाई झलकती है।

एक मतलब यह भी|

ईमानदार का मतलब नकली और झूठा बनने से बचना है,तथा सच्चा और असली बनना है, इमानदारी से खुलापन विश्वसनीयता और सत्य बोलने की प्रेरणा आती है, जो कीअपने और दूसरों के प्रति सम्मान दर्शाती है। यह भी जानें इमानदारी का मतलब ईमानदार होना है , न की ईमानदार दीखना।

ईमानदारी का अर्थ केवल सच बोलना ही नहीं होता, इसका अर्थ अपनी जिम्मेदारी ठीक से निभाना भी है। इसके लिए यदि हम अपने काम को सर्वश्रेष्ठ ढंग से करते हैं, तो हम इमानदार कहलाते हैं।

ईश्वर का अमूल्य उपहार |

ईमानदारी ईश्वर का एक बहुमूल्य उपहार होता है। यह सच्चे इंसानों में पाया जाता है। ईमानदार हम खुद होते हैं, जिनके साथ हम इमानदार रहते हैं, तो वे भी हमारे साथ ईमानदार रहते हैं। जो उनके साथ ईमानदार नही रहते, वे उनके साथ भी ईमानदार रहते हैं, अपना फर्ज समझ कर अपना कार्य उनके साथ निपटा कर अपना व्यवहार और रिश्ता बरकरार रखते हैं।

ईमानदारी के लाभ|

ईमानदार रहने से हमारा अंतः करण और आत्मा शुद्ध होती है, हम दूसरे की नजर में प्रामाणिक और विश्वसनीय व्यक्ति बनते हैं। हम दूसरे व्यक्तियों के नजर में मूल्यवान बनते हैं। हम अपने आप को सदैव हल्का महसूस करते हैं। इसके प्रभाव से हमारे मन मस्तिष्क में कभी विषाद उत्पन्न नहीं होता।

ईमानदार व्यक्ति को नींद भी मिठी आती है और उनसे दूसरे लोग समाज में ईमानदार बनने की प्रेरणा भी लेते हैं। यह उपलब्धि उनको प्रसन्नता देती है।उनके जीवन में आत्मविश्वास को बढ़ाती है।

इस आदत का विकास आसानी से|

जीवन के किसी भी क्षेत्र में सफल होने के लिए ईमानदार और सत्यनिष्ठ होना बहुत ही आवश्यक है। इसमें सबसे खास बात यह है की कोई भी व्यक्ति इन दोनों आदत को अपने अंदर विकसित कुछ उसूल और संकल्प को धारण करके कर सकता है, कि उसे यह काम करना है, और अमुक नहीं करना है। एक दिन यह निश्चय ही उसे इस आदत के लिए सफल बना देता है, और उसे अपनों के सम्मुख प्रभावित और पुरस्कृत कर सकता है। उसके व्यक्तित्व का निर्माण कर सकता है। जीवन में खुशियों को हासिल करवा पाता है।

Honest people is assets:

ईमानदारी के समान पुश्तैदी संपत्ति कोई भी नहीं है।

गूडविल

मनुष्य की प्रतिष्ठा भी इमानदारी से ही बनती है। लोग अपनी वस्तुओं और सेवा का आदान-प्रदान भी इमानदार लोगों से ही करना चाहते हैं। यह बात बड़ी ही विचित्र सी लगती है कि तो और बेईमान व्यक्ति को भी साथ वाला इंसान इमानदारी ही सुहाता है।

ईमानदारी के लिए हमको समदर्शी भी होना पड़ता है। इमानदार व्यक्ति किसी से लगाव करें, किसी से बेईमानी करें ऐसा भेदभाव भी नहीं कर सकते। जो सच है, जो सही है, वही सही बताता है।

ईमानदार व्यक्ति इस बात की परवाह नहीं करता कि लोग क्या सोचेंगे। जो सत्य होता है वह उसी की शरण लेता है, और वही बातें करता है। ईमानदारी को प्रमाणित करने के लिए वह होनी को सरलता से स्वीकार करता है। ईमानदारी के लिए अल्पकालीन चुनौती के सामने वह घुटने नहीं टेकता, बल्कि दूर की सोचता है। उसका विश्वास वर्तमान की सच्चाई और ईमानदारी पर टिका रहता है, क्योंकि उसका यह मानना होता है की वर्तमान अगर सही रहा तो, भविष्य अपने आप ही सही हो जाएगा।

Jai Sree Krishna....

 

0 thoughts on “ईमानदारी हमारी खुशियां बन जाती है | Honesty | Imaandaaree Hamari Khushiyaan Ban Jaati Hai

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

How Best Aura is formed Save Your time for success and Happiness Increase your value of time How to make your birth day happy World Environment day 5 th june World environment day, 5th June. World bicycle day The 12 life lesson younger generation can’t handle Get rich and be happy success it is necessary to be ready to listen Happiness as a goal 10 rules 9 Daily Habits to build up your stamina after 40 year Health Happiness and wellbeing for teenagers What is prayer? Don’t worry be happy? Every child is special Happy marriage anniversary The biggest issue queer teens are facing in India How to stop Overthinking and be happy